कांकेर

CG Naxalite Encounter: कांकेर मुठभेड़ में आठ लाख की इनामी नक्‍सली ढेर, नक्सलियों को पीछे धकलने में मिली सफलता….

CG Naxalite Encounter: कांकेर जिले के छोटेबेठिया इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारी गई महिला नक्सली की पहचान रीता मड़ियाम के रूप में हुई है, जो बीजापुर जिले के मनकेली गांव की रहने वाली बताई जा रही है.

कांकेर, CG Naxalite Encounter: छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के छोटेबेठिया थाना क्षेत्र से 12 किमी दूर ग्राम बीनागुंडा के जंगल में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई. मुठभेड़ के बाद सुरक्षा बलों ने घटनास्थल की तलाशी ली. इस दौरान टीम ने आठ लाख की इनामी महिला नक्सली रीता मदियम का शव (CG Naxalite Encounter), एक 303 और .315 बोर की राइफल, भारी मात्रा में हथियार और अन्य नक्सली सामग्री बरामद की. इस संयुक्त ऑपरेशन में कांकेर डीआरजी, बस्तर फाइटर्स, बीएसएफ 30 और 94वीं बटालियन के जवान शामिल थे.

मुठभेड़ में सभी जवान सुरक्षित (CG Naxalite Encounter)

मिली जानकारी के मुताबिक मुठभेड़ में सभी जवान सुरक्षित हैं. पुलिस जवानों द्वारा सर्च ऑपरेशन जारी है. प्राथमिक पहचान अभियान के आधार पर मुठभेड़ में मारी गई महिला नक्सली पीएलजीए कंपनी नंबर पांच की बताई जा रही है. सुरक्षा बलों के शिविर में लौटने के बाद विस्तृत पहचान अभियान चलाया जाएगा. इस घटना की पुष्टि एसपी आईके एलिसेला ने की है.

बैकफुट पर नक्सली

16 अप्रैल को छत्तीसगढ़ राज्य में सबसे बड़ी नक्सली कार्रवाई हुई, जिसमें 29 नक्सली मारे गए, जो हापाटोला के जंगल में था. 9 जुलाई को जिला पुलिस बल, बस्तर फाइटर्स और बीएसएफ की संयुक्त टीम द्वारा की गई कार्रवाई पिछली नक्सली घटना से एक किमी दूर बीनागुंडा के जंगल में है। जवान लगातार इस इलाके में नक्सल विरोधी अभियान चला रहे हैं. और नक्सलियों को पीछे धकेलने में सफलता मिल रही है.

यह मानसून का समय है. यह क्षेत्र घने जंगल से घिरा हुआ है। इसके साथ ही नारायणपुर का अबूझमाड़ इलाका भी है. जवान नदी-नाले पार कर ऑपरेशन को अंजाम दे रहे हैं. जवानों के लिए चुनौती हैं नक्सली, जंगल और नदियों को पार करना भी बड़ी चुनौती.

महिला नक्सली थी इसकी सदस्य

मिली जानकारी के मुताबिक, मारी गई महिला नक्सली की पहचान रीता मदियम के रूप में हुई है, जो बताई जा रही है. बीजापुर जिले के मनकेली गांव के निवासी थी. महिला नक्सली जिस पीएलजीए सैन्य कंपनी की सदस्य है, वह उत्तरी बस्तर में नक्सलियों का लड़ाकू दस्ता है, जिसके साथ जवानों की मुठभेड़ हुई थी. वर्ष 2024 तक नक्सलियों के खिलाफ चलाये जा रहे नक्सल विरोधी अभियान में अब तक 137 नक्सलियों के शव मिले हैं, 498 नक्सली गिरफ्तार किये गये हैं और 461 नक्सली आत्मसमर्पण कर चुके हैं.

Related Articles

Back to top button